• Venkatesan R

धूम्रपान की आदत

27.6.2015

सवाल: सर, मैं धूम्रपान छोड़ना चाहता हूं। मैंने जागरूकता के साथ धूम्रपान करने की कोशिश की। लेकिन मैं धूम्रपान करते हुए जागरूक नहीं रह सकता हूं। कृपया मेरा मार्ग दर्शन कीजिए।


उत्तर: जब आप पहली बार कोई क्रिया करते हैं, तो यह स्वैच्छिक है। यदि आप एक ही क्रिया को कई बार दोहराते हैं, तो यह आपकी आदत बन जाती है। तब यह अनैच्छिक हो जाता है। इसका मतलब है कि आप नियंत्रण में नहीं हैं, आप इसके आदी हैं।


यहां तक ​​कि अगर आप धूम्रपान नहीं करना चाहते हैं, तो भी एक उत्तेजना आपको धूम्रपान करने के लिए प्रेरित करेगी। अब उत्तेजना अधिक शक्तिशाली है, यह आपका ७०कग वजन शरीर को नियंत्रित रखता है। आपके शरीर और मन पर आपका कोई नियंत्रण नहीं है। आप उत्तेजना के गुलाम हैं। उत्तेजना अब मालिक है।


आप मालिक से नहीं लड़ सकते। लेकिन आप एक अनुरोध कर सकते हैं। यदि आप पंखे को बंद करना चाहते हैं, तो आपको पंखे से लड़ने के बजाय नियंत्रक को संचालित करना होगा। उत्तेजना यहां नियंत्रक है। आपको इसमें हेरफेर करना होगा। जब उत्तेजना अब मौजूद है, तो उत्तेजना को केवल एक मिनट प्रतीक्षा करने का अनुरोध करें।


एक मिनट पर्याप्त है। जिज्ञासा से बाहर एक मिनट से अधिक की अवधि का विस्तार न करें। यदि आप एक मिनट से अधिक की अवधि बढ़ाते हैं, तो आप असफल हो जाएंगे। यदि आप एक मिनट के लिए उत्तेजना पकड़ सकते हैं, तो यह एक मिनट के लिए आपके नियंत्रण में होगा। आप एक मिनट की उत्तेजना के साथ-साथ एक मिनट के धूम्रपान से भी अवगत होंगे।


इसी तरह, दूसरे दिन दो मिनट की अवधि बढ़ाएं, और इसी तरह तीसरे दिन तीन मिनट बढ़ाएं। जैसे-जैसे समय बीतता है, धीरे-धीरे आप उत्तेजना के मालिक बन जाते हैं। यदि आग्रह पूरी तरह से आपके नियंत्रण में है, तो आप धूम्रपान छोड़ सकते हैं। इससे पहले यह संभव नहीं था। इस रणनीति का प्रयास करें और आप सफल होंगे।


सुप्रभात ... उत्तेजना के बारे में जागृत रहो...💐


वेंकटेश - बैंगलोर

(9342209728)


यशस्वी भव

6 views0 comments

Recent Posts

See All

रिश्तों में समस्या

12.8.2015 प्रश्न: महोदय, मैं उन संबंधों के मुद्दों से बार-बार त्रस्त रहा हूं जो मेरे करियर और जीवन को प्रभावित करते हैं। मैं अक्सर खुद से सवाल करता हूं। क्या होगा अगर मेरा साथी मेरा उपयोग करता है और म

क्या कृष्ण मर चुके हैं?

11.8.2015 प्रश्न: महोदय, हमने सुना है कि कृष्ण भी मर चुके हैं। उसकी टांग पर नजर थी। महाभारत युद्ध के एक दिन बाद वह एक पेड़ के नीचे अच्छी तरह सो रहा था। बाद में, ज़ारा नामक एक शिकारी ने एक हिरण के लिए

सिद्धियों की विधि

10.8.2015 प्रश्न: महोदय, हमने सुना है कि कृष्ण एक महान योगी हैं। उसके पास हजारों चाची थीं। और वह एक साथ कई स्थानों पर दिखाई दे सकता है। इसके लिए क्या तंत्र है और मनुष्य इस तरह के महान देवता कैसे बन सक